emblem

स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
भारत सरकार

प्रमुख उपलब्धियां

संचारी रोगों को नियंत्रित करने हेतु

  • ·         चेचक, गिनी कृमि और पोलियो का उन्मूलन।
  • ·         कुष्ठ और याज का उन्मूलन।
  • ·         एवियन इन्फ्लुएंजा, एच 1 एन 1, सीसीएचएफ़, प्लेग, लेप्टोस्पाइरोसिस जैसी बीमारियों की रोकथाम।
  • ·         हैजा जिसे व्यापक रूप से प्रचलित ध्यान केंद्रित कार्रवाई के माध्यम से नियंत्रण में लाया गया।
  • ·         मलेरिया, ट्रेकोमा, फाइलेरिया, कालाजार जैसी बीमारियों के सार्वजनिक स्वास्थ्य बोझ को काफी हद तक कम हो गया।
  • ·         तपेदिक नियंत्रण के लिए बड़े कदम उठाए गए।

 

गैर-संचारी रोगों को नियंत्रित करने हेतु

  • ·         कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक (एनपीसीडीसीएस) हेतु रोकथाम एवं नियंत्रण के राष्ट्रीय कार्यक्रम के साथ आयुष ने समकालीन चिकित्सा और हमारे पारंपरिक स्वास्थ्य प्रणालियों के संयोजन के द्वारा देश में 6 जिलों में कार्य किया। योग इन कार्यक्रमों का एक अभिन्न हिस्सा है।
  • ·         राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के सहयोग से एनपीसीडीसीएस ने 3 जिलों में आमवाती बुखार / आमवाती हृदय रोग की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए पायलट हस्तक्षेप शुरू किया गया है।
  • ·         राष्ट्रीय अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन (नोटो) सफदरजंग अस्पताल, नई दिल्ली में स्थापित किया गया है और उसने कार्य करना आरंभ कर दिया है।
  • ·         21 प्रकार की नैदानिक विशिष्टताओं / सुपर विशेषता की सामान्य स्थितियों हेतु मानक उपचार दिशानिर्देश निर्धारित किए गए हैं।
  • ·         नैदानिक स्थापना के लिए न्यूनतम मानकों को तैयार किया गया है जो कि मेडिसिन के एलोपैथिक और आयुष प्रणाली की विभिन्न श्रेणियों से संबंधित है
  • ·         सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं हेतु भारतीय लोक स्वास्थ्य मानकों के लिए संशोधित दिशानिर्देश 2012 में जारी किए थे।
  • ·         डॉ आरएमएल अस्पताल, नई दिल्ली में राष्ट्रीय चोट निगरानी, ट्रामा रजिस्ट्री और क्षमता निर्माण केन्द्र का आरंभ।
  • ·         एक नई पहल के रूप में प्रशामक देखभाल हेतु राष्ट्रीय कार्यक्रम (एनपीपीसी) का शुभारंभ।

संस्थागत सुदृढ़ीकरण:

  • ·         एफएसएसएआई द्वारा नियंत्रण और प्रबंधन को वापस सौंपने के बाद एफ़आरएसएल का पुनरुद्धार।
  • ·         स्वास्थ्य शिक्षा पुस्तकों का विकास (अभी विमोचन होना है)।

 

अंतिम नवीनीकृत 05/05/2017