emblem

स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
भारत सरकार

विजन

व्यापक लक्ष्य
स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय के व्या पक लक्ष्य

  • साक्ष्य्-आधारित नीतियां और कार्यनीतियां बनाना तथा पारदर्शी, नवाचारी, समावेशी नीतियों की योजना बनाना तथा उन्हेंत कार्यान्विित करना।
  • प्रत्येयक नागरिक को स्वा स्य्र् एवं आरोग्यी का अधिकार सुनिश्चिसत हो, इसके लिए सामाजिक एवं सांस्कृ तिक निर्धारक-तत्वोंि का समाधान करना।
  1.  विशेषत: मातृ एवं शिशु के लिए आवश्यिक पोषण प्रदान करने के लिए खाद्य सुरक्षा की गारंटी देना।
  2. पीने योग्यृ जल, स्वेच्छ‍ता एवं उपयुक्त आवास सुनिश्चिित करना।
  • विश्वीसनीय नि:शुल्‍क सर्वसुलभ स्वातस्य्त देखभाल सेवा, जिसमें सभी नागरिकों को सुलभ नि:शुल्क औषधियां शामिल हैं, के लिए कार्यनीतियां बनाने में स्वा स्य्ेव एवं परिवार कल्या:ण विभाग को तकनीकी सहायता प्रदान करना। जिन विशेष समूहों पर विशेष ध्यायन दिए जाने की आवश्योकता है, उनको प्राथमिकता देना, जैसे- माता, शिशु, परित्यधक्तय एवं वयोवृद्ध लोग।
  • जिन संचारी रोगों का जन स्वायस्य्। पर बड़ा प्रभाव होता है, उनकी रोकथाम करने, उनका प्रभाव कम करने तथा निराकरण/निवारण करने के लिए प्रभावी उपाय करना और जूनोटिक, रासायनिक एवं रेडियोलॉजिकल खतरों सहित जीव-वैज्ञानिक खतरों के कारण होने वाली जन स्वानस्य्िक आपात स्थिोतियों की रोकथाम करना, उन्हेंा कम करना और सीमित करना।
  • समुदाय, सिविल समाज, समुदाय आधारित संगठनों, मीडिया आदि की भागीदारी के साथ व्यसवहारगत परिवर्तनों के जरिये स्वासस्य्सं को बढ़ावा देना ताकि कैंसर, कार्डियोवस्कु लर रोग, मानसिक बीमारी, शराब की लत और अन्य‍ नशाखोरी जैसे गैर-संचारी रोगों से जुड़े मुद्दों का समाधान किया जा सके।
  • सभी के लिए आपात चिकित्साे सेवाएं सुनिश्चि त करना जिनमें मेडिकल, सर्जिकल (ट्रॉमा सहित), बाल एवं वयोवृद्ध आपात स्थि तियां शामिल हैं।
  • स्वामस्य्कि को प्रभावित करने वाले जलवायु परिवर्तन संबंधी मुद्दों का समाधान करना।
  • स्वामस्य्कि देखभाल के सभी पहलुओं की सुरक्षा एवं गुणवत्ता आश्वाासन हेतु विशिष्ट् मानक एवं मानदंड निर्धारित करना।
  • देखभाल के स्तिर के अनुकूल स्वा स्य्ी क्षेत्र में मानव संसाधनों की उपलब्धाता सुनिश्चि‍त करना।
  • स्वाास्य्रि की स्थिाति, स्वाषस्य् स अवसंरचना एवं स्वािस्य्त सेवाओं से जुड़ी जानकारी का प्रबंधन करना।
  • पूर्व-निर्धारित स्वाअस्य्की संकेतकों, मानदंडों एवं बेंचमार्कों के जरिये प्रगति को मॉनीटर करना और स्वा-स्य्स् संबंधी परिणाम/प्रभाव का मूल्यांाकन करना।
  • उपर्युक्त किसी भी लक्ष्यव को प्राप्तण करने के लिए चुनौतियों से निबटने हेतु राज्य स्वाउस्य्र् विभागों को तकनीकी सहायता एवं सलाह प्रदान करना। 
अंतिम नवीनीकृत 05/05/2017